शेल्डन जैक्सन की शतकीय पारी की बदौलत सौराष्ट्र ने जीता फाइनल मुकाबला, 14 साल बाद बना चैंपियन!

विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल मुकाबलें में सौराष्ट्र ने महाराष्ट्र को 5 विकेट से हराकर 14 साल बाद चैंपियन बना. विकेटकीपर बल्लेबाज शेल्डन जैक्सन की दमदार शतकीय पारी की बदौलत सौराष्ट्र ने यह जीत हासिल की, जैक्सन ने 133 रनों की नाबाद शतकीय पारी खेलकर सौराष्ट्र के जीत में अहम भूमिका निभाई.


इससे पहले मैच में सौराष्ट्र ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग चुनी थी. सौराष्ट्र के शेल्डन जैक्सन और चिराग जानी ने अपने प्रदर्शन से ऋतुराज की शतकीय पारी पर पानी फेर दिया. 
महाराष्ट्र के कप्तान ऋतुराज गायकवाड ने अपनी जबरदस्त फॉर्म को जारी रखते हुए शानदार पारी खेलते हुए 108 रनों का योगदान दिया. ओपनर ऋतुराज ने अपनी पारी में कुल 131 गेंदों का सामना किया, उन्होंने 7 चौके 4 छक्के लगाए. इस पारी की बदौलत ही महाराष्ट्र की टीम निर्धारित 50 ओवरों में 9 विकेट के नुकसान पर 248 रन बनाने में सफल रही. महाराष्ट्र का कोई और बल्लेबाज बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहा.

सत्यजीत बच्चव, अंकित बवाने, अजीम काजी और सौरभ नवाले को शुरुआत जरूर मिली, लेकिन वो अपनी पारी को बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर सके अंत में नौशाद शेख ने एक आक्रामक पारी खेलते हुए टीम को  सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया. सौराष्ट्र की ओर से युवा तेज गेंदबाज चिराग जानी ने 49वें ओवर में शानदार हैट्रिक ली. उन्होंने 49वें ओवर की पहली गेंद पर सौरभ नवाले, दूसरी गेंद पर राजवर्धन हैंगरगेकर और तीसरी पर विक्की ओस्तवाल को आउट किया. वहीं अनुभवी जयदेव उनादकट ने किफायती गेंदबाजी करते हुए अपने 10 ओवरों में मात्र 25 रन खर्च किए. 

जैक्सन ने 136 गेंदों पर 12 चौके और 5 छक्कों की मदद से 133 रनों की अविजित पारी खेली. उन्होंने हर्विक देसाई के साथ मिलकर सौराष्ट्र को अच्छी शुरुआत दिलाई. दोनों ने मिलकर पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की. हर्विक देसाई अर्धशतक लगाकर आउट हुए. इसके बाद महाराष्ट्र ने सौराष्ट्र को बीच-बीच में झटके दिए, लेकिन ओपनर जैक्सन ने चिराग जैनी के साथ अर्धशतकीय साझेदारी के बदौलत सौराष्ट्र ने 46.3 ओवर में पांच विकेट गंवाकर लक्ष्य हासिल कर दूसरी बार चैंपियन बना.

अन्य अपडेट के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ें :- Telegram Channel

Post a Comment

0 Comments